Pahalu Mein Aaye Oar-Chhor

Regular price Rs. 140
Sale price Rs. 140 Regular price Rs. 150
Unit price
Save 7%
7% off
Tax included.

Earn Popcoins

Size guide

Cash On Delivery available

Rekhta Certified

7 Days Replacement

Pahalu Mein Aaye Oar-Chhor

Pahalu Mein Aaye Oar-Chhor

Cash On Delivery available

Plus (F-Assured)

7 Day Replacement

Product description
Shipping & Return
Offers & Coupons
Read Sample
Product description

चिली और टर्की की यात्राओं के दरमियान लेखक ने जो ब्योरे इकट्ठे किए, उसका स्वाद इस सफ़रनामे के ज़रिए पेश है।
दुनिया के इतिहास-भूगोल की नई-नई जानकारियाँ इकट्ठी करने के शौक़ीन राकेश तिवारी को नई-नई जगहों में, असम्भव रास्तों से गुज़रने में बहुत दिलचस्पी है। लोक में जिसे 'पैर में चक्कर लगना' कहते हैं, वह कहावत राकेश जी के प्रसंग में सही साबित होती है। कभी वो पैदल तो कभी साइकिल से और कभी नाव से दुर्गम क्षेत्रों के सफ़र पर निकल पड़ते हैं। चिली और टर्की की यात्राएँ तो हालाँकि सफ़र करने के सामान्य तौर-तरीक़ों से ही सम्पन्न हुई हैं, लेकिन नायाब जगहों को जाकर देखने, नई जानकारियाँ इकट्ठी करने के मामले में आदतन कहीं कोई कोताही नहीं है।
सांतियागो के फल-फूलों के भारत पहुँच चुकने के सबूतों का सिजरा हो या विश्व विरासत में शामिल ख़ूबसूरत 'वाल परासियो' शहर की सैर हो या दुनिया के सबसे ऊँचे रेगिस्तान 'कलामा-आताकामा' का भी चक्कर लगाने का मामला हो; पूर्वी टर्की के कुर्दों की बहुतायत वाले काहता, नेमरुत दागी की पहाड़ियों पर, कभी ऊँचे-नीचे पहाड़ों और वादियों में पसरे गेहूँ के खेतों के बीच से, नदियों के किनारे, पुरातन जगहों, अदीयमान, गाज़ियानटेप, सालिनऊर्फ़ा और अंकारा जैसे शहरों की सैर करने की बात हो—इस यात्रा वृत्तांत को पढ़ते हुए लगता है, राकेश तिवारी कुदरती ख़ूबसूरती और दुनिया के बनने-फैलने को कुछ नए तरह से ही दिखाते हैं। Chili aur tarki ki yatraon ke daramiyan lekhak ne jo byore ikatthe kiye, uska svad is safarname ke zariye pesh hai. Duniya ke itihas-bhugol ki nai-nai jankariyan ikatthi karne ke shauqin rakesh tivari ko nai-nai jaghon mein, asambhav raston se guzarne mein bahut dilchaspi hai. Lok mein jise pair mein chakkar lagna kahte hain, vah kahavat rakesh ji ke prsang mein sahi sabit hoti hai. Kabhi vo paidal to kabhi saikil se aur kabhi naav se durgam kshetron ke safar par nikal padte hain. Chili aur tarki ki yatrayen to halanki safar karne ke samanya taur-tariqon se hi sampann hui hain, lekin nayab jaghon ko jakar dekhne, nai jankariyan ikatthi karne ke mamle mein aadtan kahin koi kotahi nahin hai.
Santiyago ke phal-phulon ke bharat pahunch chukne ke sabuton ka sijra ho ya vishv virasat mein shamil khubsurat val parasiyo shahar ki sair ho ya duniya ke sabse uunche registan kalama-atakama ka bhi chakkar lagane ka mamla ho; purvi tarki ke kurdon ki bahutayat vale kahta, nemrut dagi ki pahadiyon par, kabhi uunche-niche pahadon aur vadiyon mein pasre gehun ke kheton ke bich se, nadiyon ke kinare, puratan jaghon, adiyman, gaziyantep, salinuurfa aur ankara jaise shahron ki sair karne ki baat ho—is yatra vrittant ko padhte hue lagta hai, rakesh tivari kudarti khubsurti aur duniya ke banne-phailne ko kuchh ne tarah se hi dikhate hain.

Shipping & Return

Shipping cost is based on weight. Just add products to your cart and use the Shipping Calculator to see the shipping price.

We want you to be 100% satisfied with your purchase. Items can be returned or exchanged within 7 days of delivery.

Offers & Coupons

10% off your first order.
Use Code: FIRSTORDER

Read Sample

Customer Reviews

Be the first to write a review
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)

Related Products

Recently Viewed Products