Sansad Se Sarak Tak

Regular price Rs. 367
Sale price Rs. 367 Regular price Rs. 395
Unit price
Save 7%
7% off
Tax included.

Earn Popcoins

Size guide

Cash On Delivery available

Rekhta Certified

7 Days Replacement

Sansad Se Sarak Tak

Sansad Se Sarak Tak

Cash On Delivery available

Plus (F-Assured)

7 Day Replacement

Product description
Shipping & Return
Offers & Coupons
Read Sample
Product description

अम्बर बहराइची उर्दू और हिन्दी के दरमियान एक पुल बनाना चाहते हैं। मुबारक़ है उनका ये अक़दाम। मुझे उनकी हिन्दी और संस्कृत पसन्दी से कहीं ज़ियादा महबूब है उनका अपने गाँव की धरती से अटूट रिश्ता बनाए रखना।
— ज्ञानचन्द्र जैन
अम्बर बहराइची जैसे रासिख़ुल अक़ीदा मुसलमान की मिसाल एक ऐसे गुलाब की सी है जिसका बीज चाहे कहीं से भी आया हो लेकिन वो फूटा है हिन्दुस्तान की धरती की कोख से और हिन्दुस्तान ही के मौसमों का रस पीकर वो बार-आवर हुआ है। अपनी जड़ों से इस दर्जा पैवस्तगी के साथ जब कोई शाइर महाकाव्य लिखने का जतन करेगा तो वह अजम के ख़यालात में खोकर नहीं रह जाएगा। उसकी तख़लीक़ का आधार होगा संस्कृत का रस सिद्धान्त।
— ख़लीक़ अंजुम
अम्बर बहराइची ने रिवायती तरक़्क़ीपसन्दी और रिवायती जदीदियतपसन्द भेड़चाल से अलग-अलग अपनी हक़ीक़ी तख़लीक़ियतआफ़रीं राह निकाली है। दयारे-ग़ज़ल में भी अब उनकी तराशीदा और मुस्तहकम और हज़ारों बेचेहरा सदाओं में अलग राह पहचानी जाती है। बक़ौल गोपीचन्द नारंग, आज़ाद तख़लीक़ियत और आज़ाद मुकालेमा नए अहद का दस्तख़त है। उन्होंने सबसे मुख़्तलिफ़ ख़ालिस हिन्दुस्तानी अक़दारी तरजीही निज़ाम के साथ एक जागती और जगमगाती कविता-यात्रा की है जो ज्योति-रस से मुनव्वर है।
— निज़ाम सिद्दीक़ी
अम्बर बहराइची बेहतरीन तख़लीक़ी सलाहियतों के मालिक हैं। उनका विजदान मुतहर्रिक है, उनकी नज़्म में विजदान ने जज़्बात में तुन्दी और तेज़ी पैदा तो की है, जज़्बों के हैजान और जोश की भी पहचान होती है, लेकिन मौज़ूअ के तक़द्दुस और वाक़ियात के जमाल की वजह से तवाज़ुन क़ाइम रहता है।
— शकीलुर्रहमान Ambar bahraichi urdu aur hindi ke daramiyan ek pul banana chahte hain. Mubaraq hai unka ye aqdam. Mujhe unki hindi aur sanskrit pasandi se kahin ziyada mahbub hai unka apne ganv ki dharti se atut rishta banaye rakhna. — gyanchandr jain
Ambar bahraichi jaise rasikhul aqida musalman ki misal ek aise gulab ki si hai jiska bij chahe kahin se bhi aaya ho lekin vo phuta hai hindustan ki dharti ki kokh se aur hindustan hi ke mausmon ka ras pikar vo bar-avar hua hai. Apni jadon se is darja paivastgi ke saath jab koi shair mahakavya likhne ka jatan karega to vah ajam ke khayalat mein khokar nahin rah jayega. Uski takhliq ka aadhar hoga sanskrit ka ras siddhant.
— khaliq anjum
Ambar bahraichi ne rivayti taraqqipsandi aur rivayti jadidiyatapsand bhedchal se alag-alag apni haqiqi takhliqiyatafrin raah nikali hai. Dayare-gazal mein bhi ab unki tarashida aur mustahkam aur hazaron bechehra sadaon mein alag raah pahchani jati hai. Baqaul gopichand narang, aazad takhliqiyat aur aazad mukalema ne ahad ka dastkhat hai. Unhonne sabse mukhtlif khalis hindustani aqdari tarjihi nizam ke saath ek jagti aur jagamgati kavita-yatra ki hai jo jyoti-ras se munavvar hai.
— nizam siddiqi
Ambar bahraichi behatrin takhliqi salahiyton ke malik hain. Unka vijdan mutharrik hai, unki nazm mein vijdan ne jazbat mein tundi aur tezi paida to ki hai, jazbon ke haijan aur josh ki bhi pahchan hoti hai, lekin mauzua ke taqaddus aur vaqiyat ke jamal ki vajah se tavazun qaim rahta hai.
— shakilurrahman

Shipping & Return

Shipping cost is based on weight. Just add products to your cart and use the Shipping Calculator to see the shipping price.

We want you to be 100% satisfied with your purchase. Items can be returned or exchanged within 7 days of delivery.

Offers & Coupons

10% off your first order.
Use Code: FIRSTORDER

Read Sample

Customer Reviews

Be the first to write a review
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)

Related Products

Recently Viewed Products