Urvar Pradesh

Regular price Rs. 290
Sale price Rs. 290 Regular price Rs. 312
Unit price
Save 6%
6% off
Tax included.

Size guide

Cash On Delivery available

Rekhta Certified

7 Days Replacement

Urvar Pradesh

Urvar Pradesh

Cash On Delivery available

Plus (F-Assured)

7 Day Replacement

Product description
Shipping & Return
Offers & Coupons
Read Sample
Product description

कवि भारतभूषण अग्रवाल उन थोड़े से वरिष्ठ कवियों में से थे जिनसे युवतम कवि भी बिना किसी हिचक या संकोच के मिल सकते थे। वे उनसे समानता और प्रसन्न गरमाहट का व्यवहार करने में कभी चूकते नहीं थे। भारत जी के आकस्मिक देहावसान के बाद जब कुछ मित्रों ने, उनकी पत्नी बिन्दु अग्रवाल की पहल और ज़िम्मेदारी पर, किसी वर्ष में प्रकाशित किसी युवा कवि की श्रेष्ठ कविता के लिए उनके नाम पर एक पुरस्कार स्थापित करने का निर्णय लिया तो उनकी युवतर कवियों से निकटता, उनके प्रति उत्साह और उनमें से कइयों के साथ उनकी सहज आत्मीयता को भी बराबर ध्यान में रखा गया था।
अब तक पुरस्कृत कवियों की पुरस्कृत कविताओं के अलावा उनके वक्तव्य और कुछ ताज़ा कविताएँ इस संचयन में शामिल हैं। उन्हें बहुत मनोयोग से भारत जी की बेटी और विख्यात भाषावैज्ञानिक अन्विता अब्बी ने एकत्र किया है। मंशा कुछ यह रही है कि तीस बरस बाद इसका कुछ आकलन हो कि युवा कवि, जिनमें कई अब लगभग वरिष्ठ हो चुके हैं, अपनी कविता और विचार में, भाषा और शिल्प में, मानवीय सच्चाई की अपनी खोज और आत्मसंघर्ष में, व्यापक कविता दृश्य में किस जगह और किस मुक़ाम पर पहुँचे हैं।
इस संचयन से स्पष्ट होता है कि हिन्दी कविता में विस्मयकारी बहुलता है। यह अनुभव करना उत्साहवर्द्धक और विचारोत्तेजक है कि युवा कवियों में किसी एक दृष्टि, एक शैली, एक विचारप्रवृत्ति का वर्चस्व नहीं है। हर स्तर पर बहुलता है जैसे कि हिन्दी भाषा, साहित्य और समाज में भी बहुलता है। यह बहुलता किसी तरह की पक्षहीनता, तटस्थता या उदासीनता का साक्ष्य नहीं है। उलटे प्रायः इन सभी कवियों में अपने आस-पास की ज़िन्दगी, उसकी विडम्बनाओं और अन्तर्विरोधों, उसमें गुँथे-फँसे अच्छे-बुरे अनुभवों के प्रति खुलापन है। दरअसल यह जटिल ज़िन्दगी ही इस सारी कविता का ‘उर्वर प्रदेश’ है। Kavi bharatbhushan agrval un thode se varishth kaviyon mein se the jinse yuvtam kavi bhi bina kisi hichak ya sankoch ke mil sakte the. Ve unse samanta aur prsann garmahat ka vyavhar karne mein kabhi chukte nahin the. Bharat ji ke aakasmik dehavsan ke baad jab kuchh mitron ne, unki patni bindu agrval ki pahal aur zimmedari par, kisi varsh mein prkashit kisi yuva kavi ki shreshth kavita ke liye unke naam par ek puraskar sthapit karne ka nirnay liya to unki yuvtar kaviyon se nikatta, unke prati utsah aur unmen se kaiyon ke saath unki sahaj aatmiyta ko bhi barabar dhyan mein rakha gaya tha. Ab tak puraskrit kaviyon ki puraskrit kavitaon ke alava unke vaktavya aur kuchh taza kavitayen is sanchyan mein shamil hain. Unhen bahut manoyog se bharat ji ki beti aur vikhyat bhashavaigyanik anvita abbi ne ekatr kiya hai. Mansha kuchh ye rahi hai ki tis baras baad iska kuchh aaklan ho ki yuva kavi, jinmen kai ab lagbhag varishth ho chuke hain, apni kavita aur vichar mein, bhasha aur shilp mein, manviy sachchai ki apni khoj aur aatmsangharsh mein, vyapak kavita drishya mein kis jagah aur kis muqam par pahunche hain.
Is sanchyan se spasht hota hai ki hindi kavita mein vismaykari bahulta hai. Ye anubhav karna utsahvarddhak aur vicharottejak hai ki yuva kaviyon mein kisi ek drishti, ek shaili, ek vicharaprvritti ka varchasv nahin hai. Har star par bahulta hai jaise ki hindi bhasha, sahitya aur samaj mein bhi bahulta hai. Ye bahulta kisi tarah ki pakshhinta, tatasthta ya udasinta ka sakshya nahin hai. Ulte prayः in sabhi kaviyon mein apne aas-pas ki zindagi, uski vidambnaon aur antarvirodhon, usmen gunthe-phanse achchhe-bure anubhvon ke prati khulapan hai. Darasal ye jatil zindagi hi is sari kavita ka ‘urvar prdesh’ hai.

Shipping & Return

Shipping cost is based on weight. Just add products to your cart and use the Shipping Calculator to see the shipping price.

We want you to be 100% satisfied with your purchase. Items can be returned or exchanged within 7 days of delivery.

Offers & Coupons

10% off your first order.
Use Code: FIRSTORDER

Read Sample

Customer Reviews

Be the first to write a review
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)

Related Products

Recently Viewed Products