Look Inside
Ullas Ki Naav : Usha Uthup
Ullas Ki Naav : Usha Uthup
Ullas Ki Naav : Usha Uthup
Ullas Ki Naav : Usha Uthup

Ullas Ki Naav : Usha Uthup

Regular price Rs. 278
Sale price Rs. 278 Regular price Rs. 299
Unit price
Save 7%
7% off
Tax included.

Earn Popcoins

Size guide

Pay On Delivery Available

Rekhta Certified

7 Day Easy Return Policy

Ullas Ki Naav : Usha Uthup

Ullas Ki Naav : Usha Uthup

Cash-On-Delivery

Cash On Delivery available

Plus (F-Assured)

7-Days-Replacement

7 Day Replacement

Product description
Shipping & Return
Offers & Coupons
Read Sample
Product description

‘आइ बिलीव इन म्यूजि़क’, ‘आइ बिलीव इन लव’—हमेशा इन दो संगीतमय वाक्यों से अपने शो की शुरुआत करनेवाली भारतीय पॉप संगीत की महारानी उषा उथुप ‘रम्भा हो’, ‘पाउरिंग रेन’, ‘मटिल्डा’, ‘कोई यहाँ नाचे-नाचे’ और ‘दोस्तों से प्यार किया’ सरीखे झूम-धूम-भरे बेशुमार गानों के संग लोगों के अन्तर्मन के धुँधले क्षितिज को हज़ार वाट की अपनी हँसी से सदैव जगमग करती आई हैं। वे देश-दुनिया की बाईस भाषाओं में गाती हैं। पर दुनिया-भर में फैले उनके प्रशंसकों को इस बात का कहीं से भी इल्म नहीं कि ‘उल्लास की नाव’ बनकर निरन्तर जीवन-जय की पताका लहरा रही उषा अपने आन्तरिक संसार में किस दु:ख, शोक और प्रहार की तीव्र लहरों के धक्कों से जूझती रही हैं। दरअसल, पाँच दशकों से भी अधिक के अपने सुदीर्घ करिअर में उषा उथुप ने अपने बारे में कम, अपने संगीत के बारे में ज़्यादा बातें कीं। मुम्बई में जन्मीं और पली-बढ़ीं, तमिल परिवार की उषा उथुप के पति केरल के हैं और उषा की कर्मभूमि कोलकाता है। इस लिहाज़ से वे एक समुद्र-स्त्री हैं, क्योंकि उनके जीवन से जुड़े सभी नगर-महानगर समुद्र तट पर हैं। इसलिए उनका संगीत समुद्र का संगीत है। एक ज़माना था जब पॉप संगीत को भारत में बहुत हल्के व फोहश रूप में लिया जाता था। पर उषा उथुप ने पॉप संगीत को हिन्दुस्तान में न सिर्फ़ ज़मीन दी, बल्कि सम्पूर्ण वैभव भी दिया। उषा ने पॉप संगीत से लेकर जिंगल, गॉस्पेल और बच्चों के लिए भी भरपूर गाया है। मदर टेरेसा उनसे हमेशा कहती थीं—‘तुम्हारा स्वर हमेशा मेरी प्रार्थना में शामिल रहता है, उषा!’ श्रीमती इन्दिरा गांधी ने उन्हें जब भी सुना, तो कहा—‘उषा! यू आर फैब्यलस! शानदार-जानदार हो तुम।‘ यह उषा उथुप ही हैं, जिन्होंने भारतीय स्त्री के परिधान के संग-संग अपनी चूड़ी-बिंदी से पूरित सज्जा को वैश्विक स्तर पर स्थापित किया। सत्तर पार की उषा की आवाज़ में शाश्वत वसन्त है। ‘ai biliv in myujik’, ‘ai biliv in lav’—hamesha in do sangitmay vakyon se apne sho ki shuruat karnevali bhartiy paup sangit ki maharani usha uthup ‘rambha ho’, ‘pauring ren’, ‘matilda’, ‘koi yahan nache-nache’ aur ‘doston se pyar kiya’ sarikhe jhum-dhum-bhare beshumar ganon ke sang logon ke antarman ke dhundhale kshitij ko hazar vaat ki apni hansi se sadaiv jagmag karti aai hain. Ve desh-duniya ki bais bhashaon mein gati hain. Par duniya-bhar mein phaile unke prshanskon ko is baat ka kahin se bhi ilm nahin ki ‘ullas ki nav’ bankar nirantar jivan-jay ki pataka lahra rahi usha apne aantrik sansar mein kis du:kha, shok aur prhar ki tivr lahron ke dhakkon se jujhti rahi hain. Darasal, panch dashkon se bhi adhik ke apne sudirgh kariar mein usha uthup ne apne bare mein kam, apne sangit ke bare mein zyada baten kin. Mumbii mein janmin aur pali-badhin, tamil parivar ki usha uthup ke pati keral ke hain aur usha ki karmbhumi kolkata hai. Is lihaz se ve ek samudr-stri hain, kyonki unke jivan se jude sabhi nagar-mahangar samudr tat par hain. Isaliye unka sangit samudr ka sangit hai. Ek zamana tha jab paup sangit ko bharat mein bahut halke va phohash rup mein liya jata tha. Par usha uthup ne paup sangit ko hindustan mein na sirf zamin di, balki sampurn vaibhav bhi diya. Usha ne paup sangit se lekar jingal, gauspel aur bachchon ke liye bhi bharpur gaya hai. Madar teresa unse hamesha kahti thin—‘tumhara svar hamesha meri prarthna mein shamil rahta hai, usha!’ shrimti indira gandhi ne unhen jab bhi suna, to kaha—‘usha! yu aar phaibylas! shandar-jandar ho tum. ‘ ye usha uthup hi hain, jinhonne bhartiy stri ke paridhan ke sang-sang apni chudi-bindi se purit sajja ko vaishvik star par sthapit kiya. Sattar paar ki usha ki aavaz mein shashvat vasant hai.

Shipping & Return

Contact our customer service in case of return or replacement. Enjoy our hassle-free 7-day replacement policy.

Offers & Coupons

Use code FIRSTORDER to get 10% off your first order.


Use code REKHTA10 to get a discount of 10% on your next Order.


You can also Earn up to 20% Cashback with POP Coins and redeem it in your future orders.

Read Sample

Customer Reviews

Be the first to write a review
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)

Related Products

Recently Viewed Products