BackBack
-21%

Subh Bakhair Zindagi

Ameer Imam

Rs. 199.00 Rs. 159.00

Hindi

Rekhta Books

About Book प्रस्तुत किताब रेख़्ता हर्फ़-ए-ताज़ा सीरीज़’ की शक्ल में ‘रेख़्ता बुक्स’ की नई पेशकश है। इस किताब में उर्दू शाइ’री की नवोदित प्रतिमाओं में से एक अमीर इमाम की शाइरी का इन्तिख़ाब शामिल है। उनकी शाइरी में मोहब्बत के नए मौज़ूआत शामिल होते हैं मगर उनमें रवायती शाइरी का... Read More

Description

About Book

प्रस्तुत किताब रेख़्ता हर्फ़-ए-ताज़ा सीरीज़’ की शक्ल में ‘रेख़्ता बुक्स’ की नई पेशकश है। इस किताब में उर्दू शाइ’री की नवोदित प्रतिमाओं में से एक अमीर इमाम की शाइरी का इन्तिख़ाब शामिल है। उनकी शाइरी में मोहब्बत के नए मौज़ूआत शामिल होते हैं मगर उनमें रवायती शाइरी का ज़ाइक़ा भी देखने को मिलता है। ‘सुब्ह-बख़ैर ज़िन्दगी’ अमीर इमाम की शाइ’री का देवनागरी लिपि में दूसरा संग्रह है। इससे पहले उनका पहला संग्रह उर्दू और देवनागरी लिपियों में ‘नक़्श-ए-पा हवाओं के’ के नाम से 2013 में प्रकाशित हुआ था, जिस पर साहित्य अकादमी का युवा साहित्य पुरस्कार भी मिला था। 

About Author

Ameer Imam is young stalwart of Urdu poetry. He was born in 1984 in Sambhal UP, and completed his studies from Aligarh Muslim University. He currently teaches English in a college near his hometown. He started writing poetry at a very young age and his first book ‘Naqsh e paa hawaaon ke’ was awarded Yuva Sahitya Academy. Ameer Imam has maintained the classical fervor in his poetry along with the modern subjects. ‘Subah ba khair zindagi’ is his second book and it is also well received by critics and poetry enthusiasts. Currently, he is teaching in a college of Sambhal.