BackBack
-5%

Qashqa Kheencha Dair Mein Baitha - Farhat Ehsas (Hardbound)

Farhat Ehsas

Rs. 599.00 Rs. 569.05

फ़रहत एहसास (फ़रहतुल्लाह ख़ाँ) 25 दिसम्बर, 1950 को बहराइच (उत्तर प्रदेश) में पैदा हुए| अ’लीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में शिक्षा प्राप्ति के बा’द 1979 में दिल्ली से प्रकाशित उर्दू साप्ताहिक ‘हुजूम’ का सह-संपादन| 1987 में उर्दू दैनिक ‘क़ौमी आवाज़’ दिल्ली से जुड़े और कई वर्षों तक उसके इतवार अंक का संपादन... Read More

Description
फ़रहत एहसास (फ़रहतुल्लाह ख़ाँ) 25 दिसम्बर, 1950 को बहराइच (उत्तर प्रदेश) में पैदा हुए| अ’लीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में शिक्षा प्राप्ति के बा’द 1979 में दिल्ली से प्रकाशित उर्दू साप्ताहिक ‘हुजूम’ का सह-संपादन| 1987 में उर्दू दैनिक ‘क़ौमी आवाज़’ दिल्ली से जुड़े और कई वर्षों तक उसके इतवार अंक का संपादन किया जिससे उर्दू में रचनात्मक और वैचारिक पत्रकारिता के मानदंड स्थापित हुए|

1998 में जामिया मिल्लिया इस्लामिया, नई दिल्ली से जुड़े और वहाँ से प्रकाशित दो शोध-पत्रिकाओं (उर्दू, अंग्रेज़ी) के सह-संपादक के तौर पर कार्यरत रहे| इसी दौरान उन्होंने ऑल इंडिया रेडियो और बी.बी.सी. उर्दू सर्विस के लिए कार्य किया और समसामयिक विषयों पर टिप्पणियाँ प्रसारित कीं|

फ़रहत एहसास अपने वैचारिक फैलाव और अनुभवों की विशिष्टता के लिए जाने जाते हैं| उर्दू के अ’लावा हिंदी, ब्रज, अवधी सहित अन्य भारतीय भाषाओं एवं अंग्रेज़ी सहित अन्य पश्चिमी भाषाओं के साहित्य में गहरी दिलचस्पी| भारतीय और पश्चिमी दर्शन से भी अंतरंग वैचारिक संबंध|

सम्प्रति ‘रेख़्ता फ़ाउंडेशन’ के मुख्य संपादक के पद पर कार्यरत|