Pratinidhi Kahaniyan : Rajendra Singh Bedi

Regular price Rs. 140
Sale price Rs. 140 Regular price Rs. 150
Unit price
Save 7%
7% off
Tax included.

Earn Popcoins

Size guide

Cash On Delivery available

Rekhta Certified

7 Days Replacement

Pratinidhi Kahaniyan : Rajendra Singh Bedi

Pratinidhi Kahaniyan : Rajendra Singh Bedi

Cash On Delivery available

Plus (F-Assured)

7 Day Replacement

Product description
Shipping & Return
Offers & Coupons
Read Sample
Product description

तरक़्क़ीपसन्द उर्दू कथाकारों में राजेंद्रसिंह बेदी का नाम अत्यन्त आदर के साथ लिया जाता है। उनकी रचनाओं की संख्या कम ज़रूर है लेकिन ज़मीन बहुत बड़ी है।
इस संग्रह में उनकी प्राय: सभी महत्त्वपूर्ण कहानियाँ शामिल हैं। इनसे जो सच्चाइयाँ उजागर हुई हैं, वे ज़िन्दगी को मात्र जी लेने से नहीं, उसमें कुछ तलाशने से ही सम्भव हैं। कहानी कहने के लिए बेदी के पास न तो बना-बनाया कोई साँचा है, न ही बुद्धिजीवी क़िस्म का कोई पूर्वग्रह। यही कारण है कि इन कहानियों से गुज़रते हुए हमारी अपनी संजीदगी बेदी की संजीदगी से एकमेक हो उठती है। उनकी अनुभवों की सच्चाई एक कलात्मक व्यवस्था के तहत हमारे भीतर उतर जाती है और शैली का संयम तथा भाषा की नज़ाकत हमें मुग्ध कर लेते हैं।
अपनी कहानियों की नारी को बेदी ने रूह तक जानने और रचने की कोशिश की है। इसलिए कल्याणी, लाजवन्ती, कीर्ति और इन्दु जैसे जीवन्त नारी-चरित्र पाठकों के दिलो-दिमाग़ पर सदा-सदा के लिए नक़्श हो जाने की क्षमता से परिपूर्ण हैं। Taraqqipsand urdu kathakaron mein rajendrsinh bedi ka naam atyant aadar ke saath liya jata hai. Unki rachnaon ki sankhya kam zarur hai lekin zamin bahut badi hai. Is sangrah mein unki pray: sabhi mahattvpurn kahaniyan shamil hain. Inse jo sachchaiyan ujagar hui hain, ve zindagi ko matr ji lene se nahin, usmen kuchh talashne se hi sambhav hain. Kahani kahne ke liye bedi ke paas na to bana-banaya koi sancha hai, na hi buddhijivi qism ka koi purvagrah. Yahi karan hai ki in kahaniyon se guzarte hue hamari apni sanjidgi bedi ki sanjidgi se ekmek ho uthti hai. Unki anubhvon ki sachchai ek kalatmak vyvastha ke tahat hamare bhitar utar jati hai aur shaili ka sanyam tatha bhasha ki nazakat hamein mugdh kar lete hain.
Apni kahaniyon ki nari ko bedi ne ruh tak janne aur rachne ki koshish ki hai. Isaliye kalyani, lajvanti, kirti aur indu jaise jivant nari-charitr pathkon ke dilo-dimag par sada-sada ke liye naqsh ho jane ki kshamta se paripurn hain.

Shipping & Return

Shipping cost is based on weight. Just add products to your cart and use the Shipping Calculator to see the shipping price.

We want you to be 100% satisfied with your purchase. Items can be returned or exchanged within 7 days of delivery.

Offers & Coupons

10% off your first order.
Use Code: FIRSTORDER

Read Sample

Customer Reviews

Be the first to write a review
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)

Related Products

Recently Viewed Products