BackBack

Pet Rog : Vyavharik Baten

Dr. Brij Kishore Agarwal, Dr. Pradip Kumar

Rs. 99

शरीर के अन्य रोगों की भाँति पेट के रोगों के निदान (Diagnosis) एवं इलाज (Treatment) के ढंग में भी आमूल-चूल बदलाव आया है। एक साधारण व्यक्ति को पेट के रोगों के बारे में कम से कम इतनी जानकारी होनी चाहिए कि वह सही ढंग से अपने रोग को समझ सके... Read More

BlackBlack
Description

शरीर के अन्य रोगों की भाँति पेट के रोगों के निदान (Diagnosis) एवं इलाज (Treatment) के ढंग में भी आमूल-चूल बदलाव आया है। एक साधारण व्यक्ति को पेट के रोगों के बारे में कम से कम इतनी जानकारी होनी चाहिए कि वह सही ढंग से अपने रोग को समझ सके तथा सही समय पर उचित इलाज करा सके।
इस पुस्तक के माध्यम से पेट के रोगों के आधुनिक विचारों पर एक विहंगम दृष्टि डालने का प्रयास किया गया है। पेट के रोगों की वर्तमान अवधारणा तथा उनके आधुनिक इलाज की समझ एवं जानकारी ही आम जनता को भटकने से बचा सकती है। इस पुस्तक का उद्देश्य आम जनता को सरल एवं व्यावहारिक बातें बताना है जिससे वे रोज़मर्रा की ज़‍िन्दगी में पेट रोगों से बच सकें एवं स्वस्थ जीवन जी सकें। Sharir ke anya rogon ki bhanti pet ke rogon ke nidan (diagnosis) evan ilaj (treatment) ke dhang mein bhi aamul-chul badlav aaya hai. Ek sadharan vyakti ko pet ke rogon ke bare mein kam se kam itni jankari honi chahiye ki vah sahi dhang se apne rog ko samajh sake tatha sahi samay par uchit ilaj kara sake. Is pustak ke madhyam se pet ke rogon ke aadhunik vicharon par ek vihangam drishti dalne ka pryas kiya gaya hai. Pet ke rogon ki vartman avdharna tatha unke aadhunik ilaj ki samajh evan jankari hi aam janta ko bhatakne se bacha sakti hai. Is pustak ka uddeshya aam janta ko saral evan vyavharik baten batana hai jisse ve rozmarra ki za‍indagi mein pet rogon se bach saken evan svasth jivan ji saken.