BackBack
-10%

Nishiddh

Tasleema Nasreen

Rs. 695.00 Rs. 625.50

Vani Prakashan

“नारीवाद ‘पश्चिम’ की जागीर नहीं है। दबी-पिसी अत्याचारित, असम्मानित,अवहेलित स्त्रियों का एकजुट होकर नारी के अधिकार के लिए ज़िन्दगी की बाज़ी लगाकर कठिन संग्राम करने का नाम ही नारीवाद है।” -तसलीमा नसरीन Read More

Description
“नारीवाद ‘पश्चिम’ की जागीर नहीं है। दबी-पिसी अत्याचारित, असम्मानित,अवहेलित स्त्रियों का एकजुट होकर नारी के अधिकार के लिए ज़िन्दगी की बाज़ी लगाकर कठिन संग्राम करने का नाम ही नारीवाद है।” -तसलीमा नसरीन