Look Inside
Nakshe Kadam : Naye Purane
Nakshe Kadam : Naye Purane
Nakshe Kadam : Naye Purane
Nakshe Kadam : Naye Purane

Nakshe Kadam : Naye Purane

Regular price Rs. 698
Sale price Rs. 698 Regular price Rs. 750
Unit price
Save 7%
7% off
Tax included.

Earn Popcoins

Size guide

Pay On Delivery Available

Rekhta Certified

7 Day Easy Return Policy

Nakshe Kadam : Naye Purane

Nakshe Kadam : Naye Purane

Cash-On-Delivery

Cash On Delivery available

Plus (F-Assured)

7-Days-Replacement

7 Day Replacement

Product description
Shipping & Return
Offers & Coupons
Read Sample
Product description

यह उपन्यास पूर्व स्वतंत्रता काल से लेकर वर्तमान तक की राजनीतिक, सामाजिक, सांस्कृतिक स्थिति को इलाहाबाद के पटल पर रखकर बहुत बारीकी के साथ एक विराट कैनवास पर उकेरता है। इसकी कथा-गाथा 'मल्टी डायममेंशनल' है। आज के युवा को उसकी शानदार विरासत से जोड़ने की सार्थक पहल की गई है। युवा एक शक्ति-समूह है। नई 'पीढ़ी के हाथ में ही नया भारत है। उस शक्ति को इस उपन्यास के माध्यम से सकारात्मक मोड़ देने में रचनाकार सफल है।
लेखक ऐसे परिवार से हैं, जिसके पूर्वजों का स्वतंत्रता-संग्राम में पीढ़ी-दर-पीढ़ी योगदान रहा है। इसलिए इस कृति में स्वतंत्रता आन्दोलन की अब तक अनजानी या विस्मृत महत्त्वपूर्ण घटनाओं का प्रामाणिक एवं सजीव दस्तावेज़ीकरण है।
लेखक भारतीय छात्र आन्दोलन की परम्परा से 1960 से 1970 के दशक के दौरान शीर्ष स्तर पर गहराई से जुड़े रहे हैं। इसलिए स्वाधीनता के बाद उपजे युवा आक्रोश और समकालीन राजनीतिक विचारधाराओं की सोच-समझ का इस उपन्यास में अन्‍तरंग विवरण एवं समालोचन है। भारत के राष्ट्रस्तरीय पर्वों के आयोजन के मूल भाव का विशद वर्णन और उनके ‘सर्व धर्म सद्भाव' के शाश्वत सन्‍देशों की व्याख्या है। यह उपन्यास राजनीतिक, सामाजिक क्षेत्रों तथा युवा पीढी से जुड़े व्यक्तियों के अतिरिक्त सामान्य पाठकों के लिए भी पठनीय है। इसमें आद्योपान्‍त रोचकता है, विभिन्न समयकाल की धड़कन है, स्पन्‍दन है। Ye upanyas purv svtantrta kaal se lekar vartman tak ki rajnitik, samajik, sanskritik sthiti ko ilahabad ke patal par rakhkar bahut bariki ke saath ek virat kainvas par ukerta hai. Iski katha-gatha malti dayammenshnal hai. Aaj ke yuva ko uski shandar virasat se jodne ki sarthak pahal ki gai hai. Yuva ek shakti-samuh hai. Nai pidhi ke hath mein hi naya bharat hai. Us shakti ko is upanyas ke madhyam se sakaratmak mod dene mein rachnakar saphal hai. Lekhak aise parivar se hain, jiske purvjon ka svtantrta-sangram mein pidhi-dar-pidhi yogdan raha hai. Isaliye is kriti mein svtantrta aandolan ki ab tak anjani ya vismrit mahattvpurn ghatnaon ka pramanik evan sajiv dastavezikran hai.
Lekhak bhartiy chhatr aandolan ki parampra se 1960 se 1970 ke dashak ke dauran shirsh star par gahrai se jude rahe hain. Isaliye svadhinta ke baad upje yuva aakrosh aur samkalin rajnitik vichardharaon ki soch-samajh ka is upanyas mein an‍tarang vivran evan samalochan hai. Bharat ke rashtrastriy parvon ke aayojan ke mul bhav ka vishad varnan aur unke ‘sarv dharm sadbhav ke shashvat san‍deshon ki vyakhya hai. Ye upanyas rajnitik, samajik kshetron tatha yuva pidhi se jude vyaktiyon ke atirikt samanya pathkon ke liye bhi pathniy hai. Ismen aadyopan‍ta rochakta hai, vibhinn samaykal ki dhadkan hai, span‍dan hai.

Shipping & Return

Contact our customer service in case of return or replacement. Enjoy our hassle-free 7-day replacement policy.

Offers & Coupons

Use code FIRSTORDER to get 10% off your first order.


Use code REKHTA10 to get a discount of 10% on your next Order.


You can also Earn up to 20% Cashback with POP Coins and redeem it in your future orders.

Read Sample

Customer Reviews

Be the first to write a review
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)

Related Products

Recently Viewed Products