Kankal

Regular price Rs. 326
Sale price Rs. 326 Regular price Rs. 350
Unit price
Save 7%
7% off
Tax included.

Size guide

Cash On Delivery available

Rekhta Certified

7 Days Replacement

Kankal

Kankal

Cash On Delivery available

Plus (F-Assured)

7 Day Replacement

Product description
Shipping & Return
Offers & Coupons
Read Sample
Product description

‘कंकाल’ भारतीय समाज के विभिन्न संस्थानों के भीतरी यथार्थ का उद्‌घाटन करता है। समाज की सतह पर दिखाई पड़नेवाले धर्माचार्यों, समाज-सेवकों, सेवा-संगठनों के द्वारा विधवा और बेबस स्त्रियों के शोषण का एक प्रकार से यह सांकेतिक दस्तावेज़ है। आकस्मिकता और कौतूहल के साथ-साथ मानव-मन के भीतरी परतों पर होनेवाली हलचल इस उपन्यास को गहराई प्रदान करती है। हदय-परिवर्तन और सेवा-भावना स्वतंत्रताकालीन मूल्यों से जुड़कर इस उपन्यास में संघर्ष और अनुकूलन को भी सामाजिक कल्याण की दृष्टि का माध्यम बना देते हैं।
उपन्यास अपने समय के नेताओं और स्वयंसेवकों के चरित्रांकन के माध्यम से एक दोहरे चरित्रवाली जिस संस्कृति का संकेत करता और बनते हुए जिन मानव-सम्बन्धों पर घंटी और मंगल के माध्यम से जो रोशनी फेंकता है वह आधुनिक यथार्थ की पृष्ठभूमि बन जाता है। सर्जनात्मकता की इस सांकेतिक क्षमता के कारण यह उपन्यास यथार्थ के भीतर विद्यमान उन शक्तियों को भी अभिव्यक्त कर सका है जो मनुष्य की जय-यात्रा पर विश्वास दिलाती है। ‘kankal’ bhartiy samaj ke vibhinn sansthanon ke bhitri yatharth ka ud‌ghatan karta hai. Samaj ki satah par dikhai padnevale dharmacharyon, samaj-sevkon, seva-sangathnon ke dvara vidhva aur bebas striyon ke shoshan ka ek prkar se ye sanketik dastavez hai. Aakasmikta aur kautuhal ke sath-sath manav-man ke bhitri parton par honevali halchal is upanyas ko gahrai prdan karti hai. Haday-parivartan aur seva-bhavna svtantrtakalin mulyon se judkar is upanyas mein sangharsh aur anukulan ko bhi samajik kalyan ki drishti ka madhyam bana dete hain. Upanyas apne samay ke netaon aur svyansevkon ke charitrankan ke madhyam se ek dohre charitrvali jis sanskriti ka sanket karta aur bante hue jin manav-sambandhon par ghanti aur mangal ke madhyam se jo roshni phenkta hai vah aadhunik yatharth ki prishthbhumi ban jata hai. Sarjnatmakta ki is sanketik kshamta ke karan ye upanyas yatharth ke bhitar vidyman un shaktiyon ko bhi abhivyakt kar saka hai jo manushya ki jay-yatra par vishvas dilati hai.

Shipping & Return

Shipping cost is based on weight. Just add products to your cart and use the Shipping Calculator to see the shipping price.

We want you to be 100% satisfied with your purchase. Items can be returned or exchanged within 7 days of delivery.

Offers & Coupons

10% off your first order.
Use Code: FIRSTORDER

Read Sample

Customer Reviews

Be the first to write a review
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)

Related Products

Recently Viewed Products