BackBack
-11%

Kamre Aur Anya Kahaniyan

Olga Tokarczuk, Tr. Maria Puri

Rs. 250 Rs. 223

Rajkamal Prakashan

इस संग्रह में तीन कहानियाँ संकलित हैं—‘अलमारी’, ‘कमरे’ और ‘ऊपरवाले का हाथ’। तीनों कहानियाँ अपने पात्रों के रहस्यमय आन्तरिक मनोजगत का दिलकश उद्घाटन करती हैं। अपने लिए एक सुरक्षित जगह तलाश करने की मनुष्य की आदिम इच्छा का वर्णन ‘अलमारी’ में बेहद ख़ूबसूरती के साथ किया गया है। वहीं ‘कमरे’... Read More

Description

इस संग्रह में तीन कहानियाँ संकलित हैं—‘अलमारी’, ‘कमरे’ और ‘ऊपरवाले का हाथ’। तीनों कहानियाँ अपने पात्रों के रहस्यमय आन्तरिक मनोजगत का दिलकश उद्घाटन करती हैं।
अपने लिए एक सुरक्षित जगह तलाश करने की मनुष्य की आदिम इच्छा का वर्णन ‘अलमारी’ में बेहद ख़ूबसूरती के साथ किया गया है। वहीं ‘कमरे’ कहानी में एक होटल के विभिन्न कमरों के बहाने इनसानी जीवन के स्याह-सफ़ेद को बहुत दिलचस्प ढंग से रेखांकित किया गया है।
‘ऊपरवाले का हाथ’ में कम्प्यूटर का माहिर नायक मनुष्य और सभ्यता की कुछ नियतिबद्ध अपरिहार्यताओं की तरफ इशारा करता है।
अत्यन्त पठनीय कहानियाँ। Is sangrah mein tin kahaniyan sanklit hain—‘almari’, ‘kamre’ aur ‘uuparvale ka hath’. Tinon kahaniyan apne patron ke rahasymay aantrik manojgat ka dilkash udghatan karti hain. Apne liye ek surakshit jagah talash karne ki manushya ki aadim ichchha ka varnan ‘almari’ mein behad khubsurti ke saath kiya gaya hai. Vahin ‘kamre’ kahani mein ek hotal ke vibhinn kamron ke bahane insani jivan ke syah-safed ko bahut dilchasp dhang se rekhankit kiya gaya hai.
‘uuparvale ka hath’ mein kampyutar ka mahir nayak manushya aur sabhyta ki kuchh niyatibaddh apariharytaon ki taraph ishara karta hai.
Atyant pathniy kahaniyan.