Look Inside
Kabeer Bani
Kabeer Bani
Kabeer Bani
Kabeer Bani

Kabeer Bani

Regular price Rs. 367
Sale price Rs. 367 Regular price Rs. 395
Unit price
Save 7%
7% off
Tax included.

Earn Popcoins

Size guide

Pay On Delivery Available

Rekhta Certified

7 Day Easy Return Policy

Kabeer Bani

Kabeer Bani

Cash-On-Delivery

Cash On Delivery available

Plus (F-Assured)

7-Days-Replacement

7 Day Replacement

Product description
Shipping & Return
Offers & Coupons
Read Sample
Product description

हमें आज भी कबीर के नेतृत्व की ज़रूरत है, उस रोशनी की ज़रूरत है जो इस सन्‍त सूफ़ी के दिल से पैदा हुई थी। आज दुनिया आज़ाद हो रही है। विज्ञान की असाधारण प्रगति ने मनुष्य का प्रभुत्व बढ़ा दिया है। उद्योगों ने उसके बाहुबल में वृद्धि कर दी है। मनुष्य सितारों पर कमन्‍दें फेंक रहा है। फिर भी वह तुच्छ है, संकटग्रस्त है, दुःखी है। वह रंगों में बँटा हुआ है, जातियों में विभाजित है। उसके बीच धर्मों की दीवारें खड़ी हुई हैं। साम्‍प्रदायिक द्वेष है, वर्ग-संघर्ष की तलवारें खिंची हुई हैं। बादशाहों और शासकों का स्थान नौकरशाही ले रही है। दिलों के अन्‍दर अँधेरे हैं। छोटे-छोटे स्वार्थ और दंभ हैं जो मनुष्य को मनुष्य का शत्रु बना रहे हैं। जब वह शासन, शहंशाहियत और प्रभुत्व से मुक्त होता है तो ख़ुद अपनी बदी का ग़ुलाम बन जाता है। इसलिए उसको एक नए विश्वास, नई आस्था और नए प्रेम की आवश्यकता है जो उतना ही पुराना है जितनी कबीर की आवाज़ और उसकी प्रतिध्वनि इस युग की नई आवाज़ बनकर सुनाई देती है।
—भूमिका से Hamein aaj bhi kabir ke netritv ki zarurat hai, us roshni ki zarurat hai jo is san‍ta sufi ke dil se paida hui thi. Aaj duniya aazad ho rahi hai. Vigyan ki asadharan pragati ne manushya ka prbhutv badha diya hai. Udyogon ne uske bahubal mein vriddhi kar di hai. Manushya sitaron par kaman‍den phenk raha hai. Phir bhi vah tuchchh hai, sanktagrast hai, duःkhi hai. Vah rangon mein banta hua hai, jatiyon mein vibhajit hai. Uske bich dharmon ki divaren khadi hui hain. Sam‍prdayik dvesh hai, varg-sangharsh ki talvaren khinchi hui hain. Badshahon aur shaskon ka sthan naukarshahi le rahi hai. Dilon ke an‍dar andhere hain. Chhote-chhote svarth aur dambh hain jo manushya ko manushya ka shatru bana rahe hain. Jab vah shasan, shahanshahiyat aur prbhutv se mukt hota hai to khud apni badi ka gulam ban jata hai. Isaliye usko ek ne vishvas, nai aastha aur ne prem ki aavashyakta hai jo utna hi purana hai jitni kabir ki aavaz aur uski pratidhvani is yug ki nai aavaz bankar sunai deti hai. —bhumika se

Shipping & Return

Contact our customer service in case of return or replacement. Enjoy our hassle-free 7-day replacement policy.

Offers & Coupons

Use code FIRSTORDER to get 10% off your first order.


Use code REKHTA10 to get a discount of 10% on your next Order.


You can also Earn up to 20% Cashback with POP Coins and redeem it in your future orders.

Read Sample

Customer Reviews

Be the first to write a review
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)

Related Products

Recently Viewed Products