BackBack

Jharokha

R Santha Sundari

Rs. 175.00

Manjul Publication

झरोखा समकालीन विषयों को लेकर तेलुगु में रची गई तेईस अनुठी रचनाओं का संग्रह है। इन कहानियों का हिन्दी में अनुवाद किया है, आर. शांता सुंदरी ने, जो पिछले साढ़े तीन दशकों से तेलुगु और हिन्दी भाषाओं में अनुवाद का कार्य कर रही हैं। Read More

Description
झरोखा समकालीन विषयों को लेकर तेलुगु में रची गई तेईस अनुठी रचनाओं का संग्रह है। इन कहानियों का हिन्दी में अनुवाद किया है, आर. शांता सुंदरी ने, जो पिछले साढ़े तीन दशकों से तेलुगु और हिन्दी भाषाओं में अनुवाद का कार्य कर रही हैं।