Look Inside
Halafname
Halafname
Halafname
Halafname

Halafname

Regular price Rs. 116
Sale price Rs. 116 Regular price Rs. 125
Unit price
Save 7%
7% off
Tax included.

Size guide

Pay On Delivery Available

Rekhta Certified

7 Day Easy Return Policy

Halafname

Halafname

Cash-On-Delivery

Cash On Delivery available

Plus (F-Assured)

7-Days-Replacement

7 Day Replacement

Product description
Shipping & Return
Offers & Coupons
Read Sample
Product description

साहित्यिक अफ़वाहों, षड्यंत्रों, छोटी आकांक्षाओं से सचेत दूरी बनानेवाले राजू शर्मा विरल प्रतिभा के कथाकार हैं। उन्होंने अपनी कहानियों में यथार्थ और उसकी अभिव्यक्ति की प्रचलित रूढ़ियों, परिपाटियों को परे हटाते हुए कथन की सर्वथा नई संरचना अर्जित की है। उनका यह पहला उपन्यास ‘हलफ़नामे’ उनकी रचनात्मकता का चमत्कृत कर देनेवाला विकास है।
‘हलफ़नामे’ को समकालीन हिन्दी उपन्यास लेखन की विशिष्ट उपलब्धि के रूप में देखा जा सकता है। एक मुख्यमंत्री किसानों के वोट बटोरने के इरादे से ‘किसान आत्महत्या योजना’ की घोषणा करता है। इधर मकई राम को सूचना मिलती है कि क़र्ज़ के बोझ से पिस रहे उसके किसान पिता ने ख़ुदकुशी कर ली है। मकई ‘किसान आत्महत्या योजना’ से मुआवज़ा हासिल करने के लिए हलफ़नामा दाख़िल करता है। कथा के इस घेरे में राजू शर्मा ने भारतीय समाज का असाधारण आख्यान रचा है। यहाँ एक तरफ़ शासनतंत्र की निर्दयता और उसके फ़रेब का वृत्तान्त है तो दूसरी तरफ़ सामान्यजन के सुख-दु:ख-संघर्ष की अनूठी छवियाँ हैं। साथ में हलफ़नामे पानी के संकट की कहानी भी कहता है और इस बहाने वह हमारे उत्तर-आधुनिक समाज के तथाकथित विकास के मॉडल का गहन-मज़बूत प्रत्याख्यान प्रस्तुत करता है। न केवल इतना, बल्कि ‘हलफ़नामे’ में भारत के ग्रामीण विकास की वैकल्पिक अवधारणा का अद्भुत सर्जनात्मक पाठ भी है।
‘हलफ़नामे’ इस अर्थ में भी उल्लेखनीय है कि इसमें न यथार्थ एकरैखिक है न संरचना। यहाँ यथार्थ के भीतर बहुत सारे यथार्थ हैं, शिल्प में कई-कई शिल्प हैं, कहानी में न जाने कितनी कहानियाँ हैं। इसकी अभिव्यक्ति में व्यंग्य है और काव्यात्मकता भी। वास्तविकता की उखड़ी-रूखी ज़मीन है और कल्पना की ऊँची उड़ान भी। अर्थ की ऐसी व्यंजना कम कृतियों में सम्भव हो पाती है।
संक्षेप में कहें, ‘हलफ़नामे’ पाठकों की दुनिया को अपनी उपस्थिति से विस्मित कर देने की सामर्थ्य रखता है।
—अखिलेश Sahityik afvahon, shadyantron, chhoti aakankshaon se sachet duri bananevale raju sharma viral pratibha ke kathakar hain. Unhonne apni kahaniyon mein yatharth aur uski abhivyakti ki prachlit rudhiyon, paripatiyon ko pare hatate hue kathan ki sarvtha nai sanrachna arjit ki hai. Unka ye pahla upanyas ‘halafname’ unki rachnatmakta ka chamatkrit kar denevala vikas hai. ‘halafname’ ko samkalin hindi upanyas lekhan ki vishisht uplabdhi ke rup mein dekha ja sakta hai. Ek mukhymantri kisanon ke vot batorne ke irade se ‘kisan aatmhatya yojna’ ki ghoshna karta hai. Idhar makii raam ko suchna milti hai ki qarz ke bojh se pis rahe uske kisan pita ne khudakushi kar li hai. Makii ‘kisan aatmhatya yojna’ se muavza hasil karne ke liye halafnama dakhil karta hai. Katha ke is ghere mein raju sharma ne bhartiy samaj ka asadharan aakhyan racha hai. Yahan ek taraf shasantantr ki nirdayta aur uske fareb ka vrittant hai to dusri taraf samanyjan ke sukh-du:kha-sangharsh ki anuthi chhaviyan hain. Saath mein halafname pani ke sankat ki kahani bhi kahta hai aur is bahane vah hamare uttar-adhunik samaj ke tathakthit vikas ke maudal ka gahan-mazbut pratyakhyan prastut karta hai. Na keval itna, balki ‘halafname’ mein bharat ke gramin vikas ki vaikalpik avdharna ka adbhut sarjnatmak path bhi hai.
‘halafname’ is arth mein bhi ullekhniy hai ki ismen na yatharth ekaraikhik hai na sanrachna. Yahan yatharth ke bhitar bahut sare yatharth hain, shilp mein kai-kai shilp hain, kahani mein na jane kitni kahaniyan hain. Iski abhivyakti mein vyangya hai aur kavyatmakta bhi. Vastavikta ki ukhdi-rukhi zamin hai aur kalpna ki uunchi udan bhi. Arth ki aisi vyanjna kam kritiyon mein sambhav ho pati hai.
Sankshep mein kahen, ‘halafname’ pathkon ki duniya ko apni upasthiti se vismit kar dene ki samarthya rakhta hai.
—akhilesh

Shipping & Return

Contact our customer service in case of return or replacement. Enjoy our hassle-free 7-day replacement policy.

Offers & Coupons

Use code FIRSTORDER to get 10% off your first order.


Use code REKHTA10 to get a discount of 10% on your next Order.


You can also Earn up to 20% Cashback with POP Coins and redeem it in your future orders.

Read Sample

Customer Reviews

Be the first to write a review
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)

Related Products

Recently Viewed Products