Look Inside
Dhalti Saanjh Ke Musafir
Dhalti Saanjh Ke Musafir
Dhalti Saanjh Ke Musafir
Dhalti Saanjh Ke Musafir

Dhalti Saanjh Ke Musafir

Regular price Rs. 419
Sale price Rs. 419 Regular price Rs. 450
Unit price
Save 7%
7% off
Tax included.

Earn Popcoins

Size guide

Pay On Delivery Available

Rekhta Certified

7 Day Easy Return Policy

Dhalti Saanjh Ke Musafir

Dhalti Saanjh Ke Musafir

Cash-On-Delivery

Cash On Delivery available

Plus (F-Assured)

7-Days-Replacement

7 Day Replacement

Product description
Shipping & Return
Offers & Coupons
Read Sample
Product description

एक दिन जब आकाश साफ़ हो तब किसी ऊँचे स्थान से सुबह के समय उगते सूरज की छटा देखें। फिर उसी स्थान से सायंकाल में भी ढलते सूरज की छटा देखें। ढलता सूरज उगते सूरज से कम प्रकाशवान नहीं होता। यह बात वृद्धावस्था के लिए भी सत्य है।
बुढ़ापा आते ही निराशाजनक स्वर सुनाई पड़ते हैं। वास्तविकता यह है कि वृद्धावस्था कोई रोग नहीं है, शरीर की एक प्रक्रिया है, प्राकृतिक क्रम को हमें स्वीकार कर लेना पड़ता है।
वृद्धावस्था में अनेक शारीरिक, मानसिक, सामाजिक एवं आर्थिक बदलाव आते हैं जिनके साथ तालमेल बिठाना आवश्यक है। हर व्यक्ति की परिस्थितियों से तालमेल बिठाने की क्षमता भी अलग-अलग होती है। इस अवस्था में पग-पग पर अनिश्चितता भी होती है।
बुज़ुर्गों में स्वास्थ्य की समस्याएँ जटिल होती हैं। वे स्वयं अपनी स्वास्थ्य समस्याओं को ठीक से नहीं समझते हैं क्योंकि कई लोगों में एक से अधिक बीमारियाँ मौजूद होती हैं। इसलिए उनका इलाज भी कठिन होता है। अनेक औषधियों के सेवन से उनके दुष्प्रभाव भी उन बीमारियों में सम्मिलित हो जाते हैं। अनेक बुज़ुर्ग इलाज का ख़र्च वहन करने में अक्षम होते हैं, तब बुज़ुर्गों को और कठिनाइयाँ हो जाती हैं। नियमित एवं सादा खान-पान, स्वास्थ्य के प्रति चेतना, सुबह-शाम टहलना, योग, व्यायाम आदि में नियमित रहना रोग निराकरण में बहुत मददगार होता है। प्रत्येक बुज़ुर्ग को दूसरे बुज़ुर्गों की देखभाल के लिए समय भी निकालना चाहिए जिससे उनको राहत मिलेगी।
आपकी जीवन-संध्या सुखद होगी या नहीं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपने इस जीवन संध्या के लिए सार्थक योजना बनाई थी या नहीं।
इस पुस्तक लेखन का उद्देश्य यह है कि पाठकों में इस अवस्था के बारे में जागरूकता आए। Ek din jab aakash saaf ho tab kisi uunche sthan se subah ke samay ugte suraj ki chhata dekhen. Phir usi sthan se sayankal mein bhi dhalte suraj ki chhata dekhen. Dhalta suraj ugte suraj se kam prkashvan nahin hota. Ye baat vriddhavastha ke liye bhi satya hai. Budhapa aate hi nirashajnak svar sunai padte hain. Vastavikta ye hai ki vriddhavastha koi rog nahin hai, sharir ki ek prakriya hai, prakritik kram ko hamein svikar kar lena padta hai.
Vriddhavastha mein anek sharirik, mansik, samajik evan aarthik badlav aate hain jinke saath talmel bithana aavashyak hai. Har vyakti ki paristhitiyon se talmel bithane ki kshamta bhi alag-alag hoti hai. Is avastha mein pag-pag par anishchitta bhi hoti hai.
Buzurgon mein svasthya ki samasyayen jatil hoti hain. Ve svayan apni svasthya samasyaon ko thik se nahin samajhte hain kyonki kai logon mein ek se adhik bimariyan maujud hoti hain. Isaliye unka ilaj bhi kathin hota hai. Anek aushadhiyon ke sevan se unke dushprbhav bhi un bimariyon mein sammilit ho jate hain. Anek buzurg ilaj ka kharch vahan karne mein aksham hote hain, tab buzurgon ko aur kathinaiyan ho jati hain. Niymit evan sada khan-pan, svasthya ke prati chetna, subah-sham tahalna, yog, vyayam aadi mein niymit rahna rog nirakran mein bahut madadgar hota hai. Pratyek buzurg ko dusre buzurgon ki dekhbhal ke liye samay bhi nikalna chahiye jisse unko rahat milegi.
Aapki jivan-sandhya sukhad hogi ya nahin, ye is baat par nirbhar karta hai ki aapne is jivan sandhya ke liye sarthak yojna banai thi ya nahin.
Is pustak lekhan ka uddeshya ye hai ki pathkon mein is avastha ke bare mein jagrukta aae.

Shipping & Return

Contact our customer service in case of return or replacement. Enjoy our hassle-free 7-day replacement policy.

Offers & Coupons

Use code FIRSTORDER to get 10% off your first order.


Use code REKHTA10 to get a discount of 10% on your next Order.


You can also Earn up to 20% Cashback with POP Coins and redeem it in your future orders.

Read Sample

Customer Reviews

Be the first to write a review
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)

Related Products

Recently Viewed Products