Look Inside
Computer V Soochana Prodyogiki Shabdkosh
Computer V Soochana Prodyogiki Shabdkosh
Computer V Soochana Prodyogiki Shabdkosh
Computer V Soochana Prodyogiki Shabdkosh

Computer V Soochana Prodyogiki Shabdkosh

Regular price Rs. 465
Sale price Rs. 465 Regular price Rs. 500
Unit price
Save 7%
7% off
Tax included.

Earn Popcoins

Size guide

Pay On Delivery Available

Rekhta Certified

7 Day Easy Return Policy

Computer V Soochana Prodyogiki Shabdkosh

Computer V Soochana Prodyogiki Shabdkosh

Cash-On-Delivery

Cash On Delivery available

Plus (F-Assured)

7-Days-Replacement

7 Day Replacement

Product description
Shipping & Return
Offers & Coupons
Read Sample
Product description

यह निर्विवाद रूप से सत्य है कि अंग्रेज़ी अब एक अन्तरराष्ट्रीय भाषा बन चुकी है। फ़्रेंच, स्पेनिश आदि भाषाएँ जो कभी अंग्रेज़ी का मुक़ाबला किया करती थीं, अब कोसों पीछे रह गई हैं। इसी तरह सम्पूर्ण भारत में हिन्दी अब एकमात्र सम्पर्क भाषा है और वह वास्तव में राष्ट्रभाषा का रूप ले चुकी है। वर्ष 2011 की जनगणना के आँकड़ों के अनुसार आज भारत में अंग्रेज़ी (टूटी-फूटी ही सही) जानने-समझने व बोलनेवालों की संख्या मात्र बारह करोड़ है जबकि हिन्दी जानने-समझने, बोलने वालों की संख्या 55-56 करोड़ से अधिक है। अन्य भाषा-भाषियों की शिक्षा के लिए जो त्रिभाषा फार्मूला अपनाया गया था, वह भी रंग लाया है। आज लगभग 18 करोड़ लोग तीन भाषाएँ जैसे— बांग्ला, मराठी, उर्दू आदि बोलते-समझते हैं।
कम्प्यूटर व सूचना प्रौद्योगिकी आज प्रमुख व आधार विषय हैं। इनका अध्ययन व प्रयोग अच्छी नौकरी या व्यवसाय की गारंटी है। आज भारतीय सॉफ़्टवेयर विशेषज्ञों ने पूरे विश्व में झंडा गाड़ रखा है। अन्य विषयों के अध्ययन व प्रयोग में भी कम्प्यूटरों व सूचना प्रौद्योगिकी का भरपूर उपयोग होता है। हालाँकि भारत के बड़े क्षेत्र में बिजली का भारी अभाव है पर फिर भी कम्प्यूटर व सूचना प्रौद्योगिकी की पहुँच दूर-दूर तक बढ़ रही है। इससे कार्य पद्धति वैज्ञानिक हो रही है और पारदर्शिता भी आ रही है। ‘कम्प्यूटर व सूचना प्रौद्योगिकी शब्दकोश’ इस दिशा में एक विनम्र प्रयास है। इसका मूल उद्देश्य है अपनी भाषा में शिक्षा ग्रहण करनेवालों के लिए उच्च शिक्षा प्राप्ति हेतु एक बफर के रूप में कार्य करना। इस शब्दकोश के माध्यम से कम्प्यूटर व सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में प्रयुक्त शब्दों व शब्दावलियों के बारे में पर्याप्त समझ विकसित हो जाएगी जिससे वे आगे की शिक्षा अंग्रेज़ी या किसी अन्य भाषा के माध्यम से ग्रहण कर पाएँगे। Ye nirvivad rup se satya hai ki angrezi ab ek antarrashtriy bhasha ban chuki hai. French, spenish aadi bhashayen jo kabhi angrezi ka muqabla kiya karti thin, ab koson pichhe rah gai hain. Isi tarah sampurn bharat mein hindi ab ekmatr sampark bhasha hai aur vah vastav mein rashtrbhasha ka rup le chuki hai. Varsh 2011 ki janaganna ke aankadon ke anusar aaj bharat mein angrezi (tuti-phuti hi sahi) janne-samajhne va bolnevalon ki sankhya matr barah karod hai jabaki hindi janne-samajhne, bolne valon ki sankhya 55-56 karod se adhik hai. Anya bhasha-bhashiyon ki shiksha ke liye jo tribhasha pharmula apnaya gaya tha, vah bhi rang laya hai. Aaj lagbhag 18 karod log tin bhashayen jaise— bangla, marathi, urdu aadi bolte-samajhte hain. Kampyutar va suchna praudyogiki aaj prmukh va aadhar vishay hain. Inka adhyyan va pryog achchhi naukri ya vyavsay ki garanti hai. Aaj bhartiy sauftveyar visheshagyon ne pure vishv mein jhanda gad rakha hai. Anya vishyon ke adhyyan va pryog mein bhi kampyutron va suchna praudyogiki ka bharpur upyog hota hai. Halanki bharat ke bade kshetr mein bijli ka bhari abhav hai par phir bhi kampyutar va suchna praudyogiki ki pahunch dur-dur tak badh rahi hai. Isse karya paddhati vaigyanik ho rahi hai aur pardarshita bhi aa rahi hai. ‘kampyutar va suchna praudyogiki shabdkosh’ is disha mein ek vinamr pryas hai. Iska mul uddeshya hai apni bhasha mein shiksha grhan karnevalon ke liye uchch shiksha prapti hetu ek baphar ke rup mein karya karna. Is shabdkosh ke madhyam se kampyutar va suchna praudyogiki ke kshetr mein pryukt shabdon va shabdavaliyon ke bare mein paryapt samajh viksit ho jayegi jisse ve aage ki shiksha angrezi ya kisi anya bhasha ke madhyam se grhan kar payenge.

Shipping & Return

Contact our customer service in case of return or replacement. Enjoy our hassle-free 7-day replacement policy.

Offers & Coupons

Use code FIRSTORDER to get 10% off your first order.


Use code REKHTA10 to get a discount of 10% on your next Order.


You can also Earn up to 20% Cashback with POP Coins and redeem it in your future orders.

Read Sample

Customer Reviews

Be the first to write a review
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)

Related Products

Recently Viewed Products