BackBack
-11%

Chahakata Chauraha

Rs. 250 Rs. 223

रेडियो नाटक एक स्वतंत्र विधा है जिसकी सम्पूर्ण अनुभूति संगीत के साथ प्रस्तुत उसके रेडियो प्रसारण से ही होती है। लेकिन पाठ के रूप में रेडियो नाटक को पढ़ना भी एक समग्र अनुभव है जो हिन्दी पाठक अनेक वरिष्ठ लेखकों द्वारा रेडियो के लिए लिखे नाटकों के माध्यम से प्राप्त... Read More

BlackBlack
Description

रेडियो नाटक एक स्वतंत्र विधा है जिसकी सम्पूर्ण अनुभूति संगीत के साथ प्रस्तुत उसके रेडियो प्रसारण से ही होती है। लेकिन पाठ के रूप में रेडियो नाटक को पढ़ना भी एक समग्र अनुभव है जो हिन्दी पाठक अनेक वरिष्ठ लेखकों द्वारा रेडियो के लिए लिखे नाटकों के माध्यम से प्राप्त कर चुके हैं।
यह नाटक-संकलन उसी शृंखला की एक कड़ी है जिसमें अनेक विधाओं में समान कौशल से सृजनशील रहीं कला समीक्षक, कथाकार और कवयित्री वर्षा दास के तीन नाटक संकलित हैं। शिक्षा, अपने अधिकारों के प्रति सजगता, आपसी रिश्तों और महिला सशक्तीकरण को विभिन्न पहलुओं से आँकते, रेखांकित ये सरल-सहज नाटक अपनी विधा के साथ तो न्याय करते ही हैं, पठनीयता की भी तमाम शर्तों को पूरा करते हैं।
एक सिद्धहस्त रचनाकार के रूप में अपनी कला और कल्पना से दृश्यों को साकार करती हुईं वर्षा दास इन नाटकों के माध्यम से हमें अपनी रचनात्मकता के एक नए आयाम से परिचित कराती हैं। Rediyo natak ek svtantr vidha hai jiski sampurn anubhuti sangit ke saath prastut uske rediyo prsaran se hi hoti hai. Lekin path ke rup mein rediyo natak ko padhna bhi ek samagr anubhav hai jo hindi pathak anek varishth lekhkon dvara rediyo ke liye likhe natkon ke madhyam se prapt kar chuke hain. Ye natak-sanklan usi shrinkhla ki ek kadi hai jismen anek vidhaon mein saman kaushal se srijanshil rahin kala samikshak, kathakar aur kavyitri varsha daas ke tin natak sanklit hain. Shiksha, apne adhikaron ke prati sajagta, aapsi rishton aur mahila sashaktikran ko vibhinn pahaluon se aankate, rekhankit ye saral-sahaj natak apni vidha ke saath to nyay karte hi hain, pathniyta ki bhi tamam sharton ko pura karte hain.
Ek siddhhast rachnakar ke rup mein apni kala aur kalpna se drishyon ko sakar karti huin varsha daas in natkon ke madhyam se hamein apni rachnatmakta ke ek ne aayam se parichit karati hain.