Look Inside
Bharat Mein Jansanchar Aur Prasaran Media
Bharat Mein Jansanchar Aur Prasaran Media
Bharat Mein Jansanchar Aur Prasaran Media
Bharat Mein Jansanchar Aur Prasaran Media

Bharat Mein Jansanchar Aur Prasaran Media

Regular price Rs. 460
Sale price Rs. 460 Regular price Rs. 495
Unit price
Save 7%
7% off
Tax included.

Earn Popcoins

Size guide

Pay On Delivery Available

Rekhta Certified

7 Day Easy Return Policy

Bharat Mein Jansanchar Aur Prasaran Media

Bharat Mein Jansanchar Aur Prasaran Media

Cash-On-Delivery

Cash On Delivery available

Plus (F-Assured)

7-Days-Replacement

7 Day Replacement

Product description
Shipping & Return
Offers & Coupons
Read Sample
Product description

भारत जैसे विशाल और पारम्परिक सभ्यता के देश में बीसवीं सदी के आरम्भ में जब आधुनिक विकास का दौर शुरू हुआ तो नए युग की चेतना के उन्मेष को देश के विशाल जनसमूह में फैलाना एक गम्भीर चुनौती थी। ऐसे समय में जनसंचार के प्रभावी माध्यम के रूप में रेडियो ने भारत में प्रवेश किया। कालान्तर में टेलीविज़न भी उससे जुड़ गया। दोनों माध्यमों ने हमारे देश में अब तक अपनी यात्रा में कई मंज़िलें पार की हैं। आकाशवाणी और दूरदर्शन ने भारत में प्रसारण मीडिया के विकास में ऐतिहासिक भूमिका निभाई है।
भारत जैसे भाषा-संस्कृति-बहुल और विविधता-भरे देश में राष्ट्रीय प्रसारक की भूमिका और ज़िम्मेदारियाँ बड़ी चुनौती-भरी रही हैं। प्रसारण टेक्नोलॉजी में हाल के कुछ वर्षों में जो ज़बर्दस्त प्रगति हुई और उसके साथ ही जब भूमंडलीकरण का दौर चला तो लाज़िमी था कि तेज़ी के साथ फलते-फूलते वैश्विक मीडिया उद्योग को भी भारत में अवसर दिए जाते। यह नया दौर निश्चित ही अपने साथ नई और अधिक गम्भीर चुनौतियाँ लेकर आया है।
मधुकर लेले ने आकाशवाणी और दूरदर्शन सेवा में लम्बी पारी पूरी की है और दोनों प्रसारण माध्यमों के विकास, विस्तार और उससे जुड़े विमर्श को उन्होंने नज़दीक से देखा-जाना है। प्रस्तुत पुस्तक में भारत में प्रसारण मीडिया की इस चुनौती-भरी यात्रा के मुख्य पड़ावों पर उन्होंने विहंगम दृष्टि से प्रकाश डाला है। Bharat jaise vishal aur paramprik sabhyta ke desh mein bisvin sadi ke aarambh mein jab aadhunik vikas ka daur shuru hua to ne yug ki chetna ke unmesh ko desh ke vishal janasmuh mein phailana ek gambhir chunauti thi. Aise samay mein jansanchar ke prbhavi madhyam ke rup mein rediyo ne bharat mein prvesh kiya. Kalantar mein telivizan bhi usse jud gaya. Donon madhymon ne hamare desh mein ab tak apni yatra mein kai manzilen paar ki hain. Aakashvani aur durdarshan ne bharat mein prsaran midiya ke vikas mein aitihasik bhumika nibhai hai. Bharat jaise bhasha-sanskriti-bahul aur vividhta-bhare desh mein rashtriy prsarak ki bhumika aur zimmedariyan badi chunauti-bhari rahi hain. Prsaran teknolauji mein haal ke kuchh varshon mein jo zabardast pragati hui aur uske saath hi jab bhumandlikran ka daur chala to lazimi tha ki tezi ke saath phalte-phulte vaishvik midiya udyog ko bhi bharat mein avsar diye jate. Ye naya daur nishchit hi apne saath nai aur adhik gambhir chunautiyan lekar aaya hai.
Madhukar lele ne aakashvani aur durdarshan seva mein lambi pari puri ki hai aur donon prsaran madhymon ke vikas, vistar aur usse jude vimarsh ko unhonne nazdik se dekha-jana hai. Prastut pustak mein bharat mein prsaran midiya ki is chunauti-bhari yatra ke mukhya padavon par unhonne vihangam drishti se prkash dala hai.

Shipping & Return

Contact our customer service in case of return or replacement. Enjoy our hassle-free 7-day replacement policy.

Offers & Coupons

Use code FIRSTORDER to get 10% off your first order.


Use code REKHTA10 to get a discount of 10% on your next Order.


You can also Earn up to 20% Cashback with POP Coins and redeem it in your future orders.

Read Sample

Customer Reviews

Be the first to write a review
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)

Related Products

Recently Viewed Products