BackBack
-10%

Baat Paise Ki : Mehnat Ki Kamai Se Karaye Mehnat

Monika Halan Translator by Mridula Halan

Rs. 250 Rs. 225

Vani Prakashan

पैसा कमाने के लिए हम जी तोड़ मेहनत करते हैं। हम कितना भी पैसा कमा लें, पैसे की चिन्ता हमारा पीछा ही नहीं छोड़ती। बिल, किराया, ई.एम.आई., बीमारी और दवाइयों पर होने वाला ख़र्च छुट्टियों में कहीं जाना, बच्चों की पढ़ाई...के अलावा एक अव्यक्त-सी चिन्ता हमेशा हमें सालती रहती है... Read More

Description

पैसा कमाने के लिए हम जी तोड़ मेहनत करते हैं। हम कितना भी पैसा कमा लें, पैसे की चिन्ता हमारा पीछा ही नहीं छोड़ती। बिल, किराया, ई.एम.आई., बीमारी और दवाइयों पर होने वाला ख़र्च छुट्टियों में कहीं जाना, बच्चों की पढ़ाई...के अलावा एक अव्यक्त-सी चिन्ता हमेशा हमें सालती रहती है कि सेवानिवृत्ति के बाद हमारा क्या होगा? हमने पैसा कमाने के लिए जितनी मेहनत की, सोचिए, अगर उतनी ही संजीदगी से बचत का निवेश करें तो ज़िन्दगी कितनी सहज हो जाये। निवेश की कौन-सी स्कीम बेकार है, यह पता लगाने का अचूक नुस्ख़ा मिल जाये? कोई ऐसी आसानी से समझ आने वाली स्कीम मिल जाये जो आने वाले कल के लिए पुख़्ता बचत करने के साथ-साथ हमारे 'आज' को भी ख़ुशहाल रख सके? व्यक्तिगत वित्त प्रबन्धन का जाना-माना और भरोसेमन्द नाम, मोनिका हालन, आपको वित्तीय सुरक्षा का एक आसान तरीक़ा बता रही हैं। यह पुस्तक आपको तत्काल अमीर होने का नुस्ख़ा नहीं बताती; पर आप जैसी ज़िन्दगी जीना चाहते हैं, उसका तरीक़ा प्रस्तुत करती है। इसे अपनाकर आपको यह चिन्ता नहीं सतायेगी कि सही निवेश और दोषरहित बीमा कौन-सा है। भारतीय परिदृश्य को ध्यान में रखकर, विशेष रूप से आपके लिए ही लिखी गयी है। paisa kamane ke liye hum ji toD mehnat karte hain. hum kitna bhi paisa kama len, paise ki chinta hamara pichha hi nahin chhoDti. bil, kiraya, ii. em. aai., bimari aur davaiyon par hone vala kharch chhuttiyon mein kahin jana, bachchon ki paDhai. . . ke alava ek avyakt si chinta hamesha hamein salti rahti hai ki sevanivritti ke baad hamara kya hoga? hamne paisa kamane ke liye jitni mehnat ki, sochiye, agar utni hi sanjidgi se bachat ka nivesh karen to zindagi kitni sahaj ho jaye. nivesh ki kaun si skeem bekar hai, ye pata lagane ka achuk nuskha mil jaye? koi aisi asani se samajh aane vali skeem mil jaye jo aane vale kal ke liye pukhta bachat karne ke saath saath hamare aaj ko bhi khushhal rakh sake? vyaktigat vitt prbandhan ka jana mana aur bharosemand naam, monika halan, aapko vittiy suraksha ka ek asan tariqa bata rahi hain. ye pustak aapko tatkal amir hone ka nuskha nahin batati; par aap jaisi zindagi jina chahte hain, uska tariqa prastut karti hai. ise apnakar aapko ye chinta nahin satayegi ki sahi nivesh aur dosharhit bima kaun sa hai. bhartiy paridrishya ko dhyaan mein rakhkar, vishesh roop se aapke liye hi likhi gayi hai.