Look Inside
Asur Adivasi
Asur Adivasi
Asur Adivasi
Asur Adivasi

Asur Adivasi

Regular price Rs. 558
Sale price Rs. 558 Regular price Rs. 600
Unit price
Save 7%
7% off
Tax included.

Size guide

Pay On Delivery Available

Rekhta Certified

7 Day Easy Return Policy

Asur Adivasi

Asur Adivasi

Cash-On-Delivery

Cash On Delivery available

Plus (F-Assured)

7-Days-Replacement

7 Day Replacement

Product description
Shipping & Return
Offers & Coupons
Read Sample
Product description

विलुप्ति के कगार पर खड़ी भारत की एक सबसे प्राचीन मानी जानेवाली असुर आदिवासी जनजाति पिछले दिनों काफ़ी चर्चा में रही है। अपनी कुछ ख़ास विशेषताओं, मान्यताओं और कुछ ख़ास माँगों के कारण इसने सभ्य समाज का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है।
दरअसल इस असुर जनजाति के लोग लौह अयस्क को खोजनेवाले तथा लौह धातु से हथियार आदि निर्माण करनेवाले विश्व की चुनिन्दा जनजातियों में से एक हैं। ये लोग अपने को पौराणिक असुरों का वंशज मानते हैं। पिछले दिनों ये चर्चा में तब आए जब इनके कुछ बुद्धिजीवी कार्यकत्ताओं ने यह माँग उठाई कि दशहरा में दुर्गा की महिषासुर मर्दिनी की जो प्रतिमा लगाई जाती है तथा उसमें उन्हें हिंसक रूप और महिषासुर का वीभत्स तरीक़े से वध करते हुए दिखाया जाता है, इससे उनकी भावना को ठेस पहुँचती है। यह उनके पूर्वजों का ही नहीं, अपितु सम्पूर्ण असुर आदिवासी समुदाय का अपमान है। सभ्य समाज के लिए ऐसा वीभत्स और अभद्र अमानवीय प्रदर्शन सभ्यता के विरुद्ध है। इसलिए इस पर तत्काल रोक लगनी चाहिए। Vilupti ke kagar par khadi bharat ki ek sabse prachin mani janevali asur aadivasi janjati pichhle dinon kafi charcha mein rahi hai. Apni kuchh khas visheshtaon, manytaon aur kuchh khas mangon ke karan isne sabhya samaj ka dhyan apni or aakarshit kiya hai. Darasal is asur janjati ke log lauh ayask ko khojnevale tatha lauh dhatu se hathiyar aadi nirman karnevale vishv ki chuninda janjatiyon mein se ek hain. Ye log apne ko pauranik asuron ka vanshaj mante hain. Pichhle dinon ye charcha mein tab aae jab inke kuchh buddhijivi karykattaon ne ye mang uthai ki dashahra mein durga ki mahishasur mardini ki jo pratima lagai jati hai tatha usmen unhen hinsak rup aur mahishasur ka vibhats tariqe se vadh karte hue dikhaya jata hai, isse unki bhavna ko thes pahunchati hai. Ye unke purvjon ka hi nahin, apitu sampurn asur aadivasi samuday ka apman hai. Sabhya samaj ke liye aisa vibhats aur abhadr amanviy prdarshan sabhyta ke viruddh hai. Isaliye is par tatkal rok lagni chahiye.

Shipping & Return

Contact our customer service in case of return or replacement. Enjoy our hassle-free 7-day replacement policy.

Offers & Coupons

Use code FIRSTORDER to get 10% off your first order.


Use code REKHTA10 to get a discount of 10% on your next Order.


You can also Earn up to 20% Cashback with POP Coins and redeem it in your future orders.

Read Sample

Customer Reviews

Be the first to write a review
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)

Related Products

Recently Viewed Products