BackBack

Apna Ek Kamra

Rs. 195.00

अपना एक कमरा, स्त्री-विमर्श की एक अत्यंत महत्त्वपूर्ण रचना है। स्त्रियों के हित में स्वतंत्र जीवन की प्रबल पक्षधर और ध्वजवाहक वर्जीनिया वुल्फ़ ने इस पुस्तक में स्त्रीवादी चिंतन को केंद्र में रखते हुए लैंगिक विषमता और विडम्बना पर सटीक टिप्पणी की है। एक विस्तारित लेख के रूप में प्रस्तुत... Read More

BlackBlack
Vendor: Vani Prakashan Categories: Vani Prakashan Books Tags: Feminism
Description
अपना एक कमरा, स्त्री-विमर्श की एक अत्यंत महत्त्वपूर्ण रचना है। स्त्रियों के हित में स्वतंत्र जीवन की प्रबल पक्षधर और ध्वजवाहक वर्जीनिया वुल्फ़ ने इस पुस्तक में स्त्रीवादी चिंतन को केंद्र में रखते हुए लैंगिक विषमता और विडम्बना पर सटीक टिप्पणी की है। एक विस्तारित लेख के रूप में प्रस्तुत यह पुस्तक वस्तुत: उन व्याख्यानों पर आधारित है जो वर्जीनिया वुल्फ़ ने केम्ब्रिज विश्वविद्यालय के दो महिला कॉलिजों में अक्टूबर 1928 में दिए थे। मूलत: 'स्त्रियाँ और कथा साहित्य' पर दिए गए इन व्याख्यानों में वर्जीनिया वुल्फ़ ने कथा साहित्य की लेखक और कथा साहित्य की पात्र, दोनों ही रूपों में स्त्री की स्थिति का विशद विवेचन और विश्लेषण किया है।