BackBack

ANCHALIK PATRAKARITA KI VAISHVIK UDAAN

Sanat Jain

Rs. 195.00

यह पुस्तक ग्रामीण पत्रकारिता के विकास के साथ-साथ ग्रामीण अंचलों को विकास के इस दौर में नगरीय आबादी के साथ जोड़ने में और युवा पत्रकारों को प्रशिक्षित करने में महत्त्वपूर्ण मार्गदर्शन करेगी। समाचार-पत्र एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की केवल बड़े-बड़े शहरों और महानगरों की रिपोर्टिंग तक ही पहुंच है। भारत की... Read More

BlackBlack
Description
यह पुस्तक ग्रामीण पत्रकारिता के विकास के साथ-साथ ग्रामीण अंचलों को विकास के इस दौर में नगरीय आबादी के साथ जोड़ने में और युवा पत्रकारों को प्रशिक्षित करने में महत्त्वपूर्ण मार्गदर्शन करेगी। समाचार-पत्र एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की केवल बड़े-बड़े शहरों और महानगरों की रिपोर्टिंग तक ही पहुंच है। भारत की ज़्यादातर आबादी आज भी गांवों में रहती है तथा उसकी अपनी समस्याएं हैं। मीडिया में उन्हें उपयुक्त स्थान नहीं मिल पाता है। वर्तमान संदर्भ में स्मार्टफ़ोन, व्हाट्‌सएप और इंटरनेट के विभिन्न माध्यमों द्वारा समाचार बनाना बहुत सहज और सरल हो गया है।ऐसी स्थिति में पत्रकारिता के क्षेत्र में, विशेष रूप से आंचलिक पत्रकारिता के माध्यम से बहुत प्रभावकारी समाचार और सूचनाएं हर स्तर पर महत्त्व बना सकते हैं। यह पुस्तक ग्रामीण व शहरी आबादी को एक सूत्र में जोड़ने का काम करेगी तथा पत्रकारिता विषय के छात्रों व शोधार्थियों और सामान्य पाठकों के लिए विशेष रुचिकर और मार्गदर्शी साबित होगी।