BackBack

Abhinav Cinema

Prachand Praveer

Rs. 595.00

सिनेमा पर भारतीय शास्त्रीय आलोचना परम्परा को आयद करने की कोशिश की शुरुआत करनेवाली ऐसी पुस्तक विश्व-सिने-समीक्षा इतिहास में पहली है। इसमें बहुत जोख़िम उठाया गया है।मतभेदों के बावजूद यह पुस्तक सही अर्थों में अपने क्षेत्र में एकदम नयी दृष्टि रखती और देती है, नूतन मार्ग बनाती है और अग्रगामी... Read More

BlackBlack
Vendor: Vani Prakashan Categories: Cinema, Vani Prakashan Tags: Cinema
Description
सिनेमा पर भारतीय शास्त्रीय आलोचना परम्परा को आयद करने की कोशिश की शुरुआत करनेवाली ऐसी पुस्तक विश्व-सिने-समीक्षा इतिहास में पहली है। इसमें बहुत जोख़िम उठाया गया है।मतभेदों के बावजूद यह पुस्तक सही अर्थों में अपने क्षेत्र में एकदम नयी दृष्टि रखती और देती है, नूतन मार्ग बनाती है और अग्रगामी है। यह ऐसी अद्वितीय पुस्तक है कि मैं सख़्त सिफ़ारिश करता हूँ कि इसे व्यक्तिगत और सार्वजनिक रूप से ख़रीदा जाये और सिनेमा तथा हिन्दी के पाठ्यक्रम में अनिवार्यतः सम्मानजनक जगह दी जाए।-विष्णु खरे