BackBack

Aag Ka Rahasya

Rajkumar Kumbha

Rs. 150.00

काव्य-लेखन की परम्परा प्राचीन है और प्राचीन समय से ही मनुष्य अपनी अभिव्यक्ति के लिए काव्य-लेखन करता रहा है। हर दौर में कविता का रूप तो बदला ही, साथ ही उसे अपनी वैचारिक क्षमता के अनुसार भी प्रयोग में लाया गया। ऐसे अनेक महान कवि हुए हैं जिन्होंने अनेक महान... Read More

BlackBlack
Description
काव्य-लेखन की परम्परा प्राचीन है और प्राचीन समय से ही मनुष्य अपनी अभिव्यक्ति के लिए काव्य-लेखन करता रहा है। हर दौर में कविता का रूप तो बदला ही, साथ ही उसे अपनी वैचारिक क्षमता के अनुसार भी प्रयोग में लाया गया। ऐसे अनेक महान कवि हुए हैं जिन्होंने अनेक महान काव्य-कृतियों की रचना की और अपनी अभिव्यक्ति की स्वतन्त्रता का प्रसार किया। इस श्रेणी में चर्चित कवि राजकुमार कुम्भज भी एक हैं जिन्होंने अनेक काव्य-कृतियों की रचना की। उनका नया काव्य-संग्रह ‘आग का रहस्य’ भी उनके पूर्व के काव्य-संग्रहों की भाँति अपने में क्रान्तिकारी विचारों से युक्त कविताओं को समेटे हुए है, यह कविताएँ अवश्य ही पाठकों को ऊर्जस्वित और रोमांचित करेंगी।