BackBack

Usne Kaha Tha

Ashar Najmi

Rs. 325

Rekhta Books

उसने कहा था' उर्दू का एक चर्चित उपन्यास है जिसे अब देवनागरी लिपि में लाया गया है। यह LGBTQ समुदाय पर एक बोल्ड और अपने सही अर्थ में एक समकालीन और असाधारण उपन्यास है। चरित्रों की आन्तरिक सच्चाई के सारे छिपे हुए और महत्वपूर्ण आयाम इस तरह चमकते हैं जैसे कि उपन्यास... Read More

Reviews

Customer Reviews

Based on 1 review
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
100%
(1)
0%
(0)
S
Somesh Pandey

Usne Kaha Tha

Description
उसने कहा था' उर्दू का एक चर्चित उपन्यास है जिसे अब देवनागरी लिपि में लाया गया है। यह LGBTQ समुदाय पर एक बोल्ड और अपने सही अर्थ में एक समकालीन और असाधारण उपन्यास है। चरित्रों की आन्तरिक सच्चाई के सारे छिपे हुए और महत्वपूर्ण आयाम इस तरह चमकते हैं जैसे कि उपन्यास के आख्यान पर एक दिखाई न देने वाली किसी सर्च-लाइट से रौशनी फेंकी जा रही है। अशअर नज्मी हर प्रकार के नैतिक या धार्मिक स्टेटमेंट से बचते हुए एक विशेष वर्ग के सम्पूर्ण अनुभव को बयान करते हैं जो लेखक एवं पाठक दोनों के लिए एक हो जाता है। ज़मान तारिक़ ने इसका अनुवाद भी बहुत ही सुन्दर किया है। हिन्दी पाठकों को यह नहीं लगेगा कि इस उपन्यास को 'उसने कहा है', वे महसूस करेंगे कि इसे 'मैंने ही कहा है'।