Mai Urdu Hoon

Regular price Rs. 229
Sale price Rs. 229 Regular price Rs. 249
Unit price
Save 8%
8% off
Tax included.

Earn Popcoins

Size guide

Cash On Delivery available

Rekhta Certified

7 Days Replacement

Mai Urdu Hoon

Mai Urdu Hoon

Regular price Rs. 229
Sale price Rs. 229 Regular price Rs. 249
Unit price
8% off

Cash On Delivery available

Plus (F-Assured)

7 Day Replacement

Product description
Shipping & Return
Offers & Coupons
Read Sample
Product description
Abount the Book:

‘मैं उर्दू हूँ’ एक भाषा के सफ़र का संस्मरण है। ये किताब उर्दू के प्रारम्भिक युग से शुरू होती है और मीर-ओ-ग़लिब से लेकर आधुनिक युग के नामचीन साहित्यकारों की उँगली थामे उस जगह तक जा पहुँचती है, जहाँ प्राचीन भाषाओं और लिपियों का ज़िक्र स्वाभाविक हो जाता है। इस संस्मरण में धीरे-धीरे ये भेद भी खुलता है कि सभी भाषाओं में कुछ न कुछ साम्य है और प्रत्यक्ष रूप से असंबद्ध लगने वाली देवनागरी, फ़ारसी और अरबी लिपियाँ दर-अस्ल एक ही मूल से निकली हैं। ये किताब लेखक और उर्दू के बीच होने वाला एक रोचक वार्तालाप है जो भाषाओं की व्युत्पत्ति, विकास और प्रसार के विषयों पर रौशनी डालता है।

Abount the Author:

धीरेन्द्र सिंह फ़ैयाज़ ज़बान और अदब के एक संजीदा क़ारी और शायर हैं। पढ़ने-पढ़ाने की अपनी बेहतरीन सलाहियत के बाइस साहित्य के समकालीन परिदृश्य में अपने पाठकों और शागिर्दों के दर्मियान वो बेहद सम्मानित हैं। उनका जन्म 10 जुलाई, 1987 में खजुराहो के नज़दीक चन्दला नाम के एक क़स्बे में हुआ। वो इन दिनों मुस्तक़िल तौर पर इंदौर में रहते हैं।
Shipping & Return

Shipping cost is based on weight. Just add products to your cart and use the Shipping Calculator to see the shipping price.

We want you to be 100% satisfied with your purchase. Items can be returned or exchanged within 7 days of delivery.

Offers & Coupons

10% off your first order.
Use Code: FIRSTORDER

Read Sample

Customer Reviews

Based on 4 reviews
100%
(4)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
s
shyam babu khare

Mai Urdu Hoon

D
Dr R P SINGH
A Beautiful Dialogue between Urdu and its Lovers

It is one of the finest book on Urdu.Though it is a travelling dialogue between this language and the author,its reader-lovers become willing fellow travellers in the course of reading.Such is the profound effect of this richly engaging book.Faiyaz saheb has done a wonderful job of presenting the story of Urdu and other Indian languages in a style which doesn’t permit to put the book aside before reaching the last page. And the desire to begin the travel again remains in the mind.
A highly rewarding and enriching book!

j
jaunaid
Mai Urdu Hoon

nice

s
shahid
Mai Urdu Hoon

Superb

Related Products

Recently Viewed Products